Site icon Kaliyug Times

kalyug ka ant kab hoga

दोस्तो, अगर आप जानना चाहते हैं कि kalyug ka ant kab hoga तो इस लेख में हम आपको कलयुग से जुड़ी सारी रोचक जानकारी के बारे में बताएंगे।

दोस्तो क्या आप जानते हैं कि हमारी हिंदू सभ्यता सबसे पुरानी सभ्यता मानी जाती है, और हमारे सनातन धर्म का कभी अंत नहीं होता, क्योंकि सनातन के नाम से ही पता चलता है सनातन जिसका अथ कभी खत्म नहीं होने वाला। दोस्तो हमारे वेदो और पुराणों के अनुसर हमारे युग में चार युग होते हैं जिनमें से कृत युग, त्रेता युग, द्वापर युग, और कलयुग हैं। जिनके कलयुग चार युगों में सबसे ज्यादा पाप से भरी युग मानी जाती है, तो आइए दोस्तो जानते हैं कलयुग के बारे में कुछ रोचक जानकारी।

age of kalyug

दोस्तो हमारे वेदों और पुराणों के अनुसार कहा जाता है कि जब महाभारत समाप्त हुआ और भगवान श्री कृष्ण जी वैकुंठ धाम को गए उसके 42 वर्ष पूर्व कलयुग का आरंभ हुआ जो 17/18 फरवरी 310 BCE  के दिन है जैसे कि आज से देखें कलयुग की सुरुवात 5,124 साल पहले हुआ है और 426,876 साल अभी कलयुग के शेष हैं।

 

kalyug ka ant kab hoga

दोस्तों वेदो के अनुसार चार युगो में सबसे ज्यादा निर्दयी, क्रूर और पाप से भरी हुई युग कलयुग होने वाली है और इस युग में इंसान अपने कर्म, धर्म और कर्तव्य से मुंह मोड़ लेगा और सिर्फ पाप, क्रोध और जलन के अधीन होगा। कलयुग में इंसान पूजा पाठ जैसे आदि धर्म से संबंधित कार्यों से मुंह मोड़ लेगा और हत्या, चोरी, अधर्म का हाथ थाम लेगा। हमारे वेदों में कहा गया है कि जब कलयुग अपनी चरम सीमा पर होगा तब इंसान की आयु घाट कर 20 वर्ष हो जाएगी और गंगा जी सुख कर वैकुंठ धाम को चलेंगी और सारे ओर पाप से भारी दुनिया होगी और करीब कलयुग के 10,000 साल बाद सारे देवी देवता अपने धाम को लौट जायेंगे, तब के समय का सबसे बड़ा दानव कलि पुरुष होगा जो कि चारो युगो में सबसे शक्तिशाली है और तब भगवान विष्णु के दसवें अवतार कल्कि का जन्म होगा और वो कलि पुरुष के साथ युद्ध करेंगे, ये युद्ध 3 दिनो तक चलेगा, कहा जाता है कि पुराने युगों के सात चिरंजीवी भी इस युद्ध में भगवान विष्णु का साथ देंगे तब भगवान विष्णु कलि पुरुष का वध करेंगे और कलयुग का अंत करेंगे।

दोस्तो भगवान विष्णु जब कलि पुरुष का वध करके कलयुग का अंत कर देंगे तब धरती पर 12 वर्ष तक वर्षा होगी और धरती पुरी तरह जल मगन हो जाएगी तब 12 सूर्य एक साथ उदय होंगे और पृथ्वी सारे जल को सोख लेगी और उसके बाद नए युग की शुरुआत होगी।

Exit mobile version